अपोलो हॉस्पिटल्स की आयुर्वेद में हिस्सा खरीद के जरिये कारोबार विस्तार की योजना

अपोलो हॉस्पिटल्स ने आयुर्वेद (AyurVAID) में 60 फीसदी हिस्से का अधिग्रहण किया है।

 कंपनी ने नामी क्लासिकल आयुर्वेद हॉस्पिटल श्रृंखला AyurVAID में 60 फीसदी हिस्से का अधिग्रहण 26.4 करोड़ रुपये में किया है। निवेश की गई रकम का इस्तेमाल मौजूदा सेंटर्स के अपग्रेडेशन पर खर्च किया जाएगा। साथ ही नए सेंटर खोलने और एंटरप्राइज प्लैटफॉर्म को मजबूत करने के लिए किया जाएगा। साथ ही डिजिटल हेल्थ इनिशिएटिव पर भी रकम का इस्तेमाल होगा। आयुर्वेद को वित्त वर्ष 2023 में 15 करोड़ से ज्यादा की आय का अनुमान है। वहीं कंपनी का लक्ष्य अगले तीन साल में आय को 100 करोड़ रुपये तक के स्तर तक ले जाने का है। अपोलो हॉस्पिटल्स एंटरप्राइजेज के चेयरमैन प्रताप सी रेड्डी ने कहा कि प्रमाण आधारित एकीकृत मेडिसिन की डिलीवरी में काफी संभावनाएं हैं। इसमें एलोपैथिक और पारंपरिक मॉडल को शामिल किया गया है। इसका मकसद मरीजों के जीवन के क्वालिटी में और सुधार लाना है। यह एक ट्रांसफॉर्मेशनल यात्रा है। इस अधिग्रहण से भारत के अलावा विश्व में केयर मॉडल का उदय होगा। अपोलो हॉस्पिटल्स और आयुर्वेद के बीच की यह साझेदारी भारतीय नागरिकों के लिए न केवल एक उम्मीद की किरण है बल्कि विश्वभर के यात्रियों के लिए मेडिकल वैल्यू का निर्माण करेगा। अपोला हॉस्पिटल का शेयर 0.30% गिर कर 4391.05 रुपये प्रति शेयर पर बंद हुआ।

 (शेयर मंथन, 06 अक्टूबर 2022)

Add comment

 

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : डाउनलोड करें

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

शेयर मंथन पर तलाश करें।

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"