आरबीआई ने यथास्थिति को रखा बरकरार, रेपो रेट 6.50% पर अपरिवर्तित

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर उर्जित पटेल की अगुआई वाली मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने बुधवार को रेपो रेट को अपरिवर्तित बनाये रखने का फैसला किया।

रेपो रेट वह है, जिस दर पर भारतीय रिजर्व बैंक बैंकों को पैसा देता है, उसको 6.5% पर अपरिवर्तित रखा।
आज की बैठक में वर्तमान और विकसित समष्टि आर्थिक स्थिति के आकलन के आधार पर, मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने तरलता समायोजन सुविधा (एलएएफ) के तहत पॉलिसी रेपो रेट को 6.5% पर अपरिवर्तित रखने का फैसला किया," केंद्रीय बैंक ने एक विज्ञप्ति में कहा।
लगातार दूसरी बार ऐसा हुआ है, जब केंद्रीय बैंक ने रेट को अपरिवर्तित रखने का फैसला किया है। अपनी पिछली द्वि-मासिक मौद्रिक नीति में, शीर्ष बैंक ने रेपो रेट को अपरिवर्तित रखा था। कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों और वैश्विक वित्तीय स्थितियों के मजबूत होने से विकास और मुद्रास्फीति के लिए पर्याप्त जोखिम पैदा हो रहा है। (शेयर मंथन, 05 दिसंबर 2018)

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : नवंबर 2017 अंक डाउनलोड करें

वीडियो सूची

शेयर मंथन पर तलाश करें।

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"