उद्योग संगठनों ने थोक महँगाई (WPI) घटने का किया स्वागत

भारत के प्रमुख उद्योग संगठनों, सीआईआई (CII) और फिक्की (FICCI) ने सितंबर महीने में थोक महँगाई (Wholesale Inflation) घटने का स्वागत किया है।

खाद्य, सब्जियों की मूल्य-वृद्धि नरम पड़ने से घटी थोक महँगाई (WPI)

अगस्त के मुकाबले सितंबर महीने में थोक महँगाई दर (Wholesale Inflation) में कुछ नरमी आयी है, जिसके पीछे मुख्य कारण खाद्य पदार्थों और सब्जियों की महँगाई दर में आयी तेज गिरावट है।

सितंबर में भी खुदरा महँगाई दर (Retail Inflation) 3.28%

उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) पर आधारित खुदरा महँगाई दर में पिछले महीने के मुकाबले कोई बदलाव नहीं हुआ है।

भारतीय कंपनियों ने जुलाई-सितंबर तिमाही में जुटाये 3.24 लाख करोड़ रुपये

बाजार नियामक सेबी (SEBI) के नये आँकड़ों के अनुसार 2017 की जुलाई-सितंबर तिमाही में भारतीय कंपनियों ने कॉर्पोरेट बॉन्ड के प्राइवेट प्लेसमेंट के जरिये करीब 3.24 लाख करोड़ रुपये जुटाये।

सितंबर में कार बिक्री 6.9% बढ़ी : सियाम (SIAM)

सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (सियाम) के अनुसार सालाना आधार पर सितंबर में कारों की बिक्री में 6.9% की बढ़त हुई।

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : अगस्त 2016 अंक डाउनलोड करें

बातचीत

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

सूचकांक

Blowjob