वोडाफोन (Vodafone) और आइडिया (Idea) के विलय को दूरसंचार विभाग ने दी सशर्त मंजूरी

दूरसंचार विभाग ने वोडाफोन (Vodafone) और आइडिया (Idea) के विलय को सशर्त मंजूरी दे दी है।

दूरसंचार विभाग ने वोडाफोन के एक बार स्पेक्ट्रम शुल्क से संबंधित नकद 3,926 करोड़ रुपये का भुगतान करने को कहा है, जिसे वोडा या आइडिया में से कोई भी दे सकता है। साथ ही विभाग ने आइडिया को 3,342 करोड़ रुपये की संयुक्त बैंक गारंटी जमा कराने को कहा है। यह मंजूरी अब कंपनियों कंपनियों द्वारा इन माँगों को पूरी करने पर निर्भर है, जिसे अदालत में चुनौती दी जा सकती है।
गौरतलब है कि वोडा-आइडिया के विलय के बाद यह देश की सबसे बड़ी दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी बन जायेगी। पिछले 15 सालों से अधिक समय से भारती एयरटेल (Bharti Airtel) देश की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी बनी हुई है।
उधर दूरसंचार विभाग की सशर्त मंजूरी मिलने से आइडिया के शेयर में मजबूती आयी है। 54.55 रुपये के पिछले बंद भाव के मुकाबले 56.90 रुपये पर खुलने के बाद यह 2 बजे के करीब 1.15 रुपये या 2.11% की मजबूती के साथ 55.70 रुपये पर चल रहा है। बता दें कि 2018 में अब तक आइडिया का शेयर 48% कमजोर हो चुका है। (शेयर मंथन, 10 जुलाई 2018)

Add comment

Security code Refresh

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : नवंबर 2017 अंक डाउनलोड करें

वीडियो सूची

शेयर मंथन पर तलाश करें।

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"