वित्त वर्ष 2023 की पहली तिमाही में बजाज ऑटो का मुनाफा 11% बढ़ा

ऑटोमोबाइल कंपनी बजाज ऑटो ने स्टैंडअलोन आधार पर 1100 करोड़ रुपये मुनाफे के अनुमान के मुकाबले 1173 करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया है।

 कंपनी का मुनाफा स्टैंडअलोन आधार पर मुनाफा 1061 करोड़ रुपये से बढ़कर 1173 करोड़ रुपये रहा। मुनाफे में यह बढ़ोतरी करीब 11% रहा। वहीं स्टैंडअलोन आय 7600 करोड़ रुपये के अनुमान के मुकाबले 8005 करोड़ रुपये दर्ज हुआ। पिछले साल इसी अवधि में आय 7386 करोड़ रुपये थी। स्टैंडअलोन आय में 8.4% की सालाना बढ़ोतरी देखने को मिली। कंपनी का कामकाजी मुनाफा यानी EBITDA 1120 करोड़ रुपये से बढ़कर 1297 करोड़ रुपये दर्ज हुआ। सालाना आधार पर कामकाजी मुनाफे में 16% की बढ़ोतरी देखने को मिली। वहीं कंपनी के मार्जिन में मामूली बढ़त देखने को मिली। मार्जिन 15.2% से बढ़कर 16.2% दर्ज हुआ। एक्सचेंज को दी गई जानकारी में कंपनी ने बताया कि वित्त वर्ष 23 की पहली तिमाही में वॉल्यूम में 7 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है। यह पिछले साल के 10.06 लाख इकाई के मुकाबले 9.3 लाख इकाई रहा। कंपनी की आय में सेमीकंडक्टर की कमी का असर साफ तौर पर दिखा। हालाकि तिमाही के आखिरी दिनों में आपूर्ति के नए साधनों से सेमीकंडक्टर की कमी कुछ हद तक दूर हुई। कंपनी ने पिछले साल के मुकाबले घरेलू बाजार में 3.5 लाख इकाई के मुकाबले 3.52 लाख इकाई गाड़ी ही बेच पाई। यह आंकड़ा पिछले साल की तुलना में 1 फीसदी कम है। साथ ही पिछले साल के मुकाबले गाड़ियों के निर्यात में भी 10 फीसदी की गिरावट देखी गई है। पिछले साल इसी अवधि में कंपनी ने 6.48 लाख गाड़ियों का निर्यात किया था जबकि इस साल केवल 5.8 लाख गाड़ियां ही निर्यात कर पाई है। एनएसई (NSE) पर कंपनी का शेयर 2.22% जबकि बीएसई (BSE) पर 2.34% गिर कर बंद हुआ।

(शेयर मंथन 26 जुलाई, 2022)

Add comment

 

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : डाउनलोड करें

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

शेयर मंथन पर तलाश करें।

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"