वित्त वर्ष 2023 की पहली तिमाही में मारुति सुजुकी का मुनाफा 130% बढ़ा, निर्यात अबतक के रिकॉर्ड स्तर पर

ऑटोमोबाइल कंपनी मारुति सुजुकी का वित्त वर्ष 2023 की पहली तिमाही में स्टैंडअलोन मुनाफा ~1010 करोड़ रुपये रहा जबकि 1600 करोड़ रुपये मुनाफे का अनुमान था।

 कंपनी का स्टैंडअलोन मुनाफा 441 करोड़ रुपये से बढ़कर 1010 करोड़ रुपये रहा। हालाकि कंपनी का कहना है कि कंपनी के नतीजे को सालाना आधार पर तुलना नहीं करना चाहिए क्योंकि पिछले साल इसी अवधि में इकाई कोरोना के कारण बंद था। वहीं कंपनी की स्टैंडअलोन आय 17,771 करोड़ रुपये से बढ़कर 26,500 करोड़ रुपये रहा, जबकि आय 25,800 करोड़ रुपये आने का अनुमान था। कामकाजी मुनाफा 821 करोड़ रुपये से बढ़कर 1912 करोड़ रुपये दर्ज हुआ है। कंपनी का मार्जिन 8.5 फीसदी के अनुमान के मुकाबले 7.2% रहा,जबकि पिछले साल इसी अवधि में मार्जिन 4.6% था। कंपनी की अन्य आय 508 करोड़ रुपये से घटकर 81 करोड़ रुपये रहा।कंपनी के मुताबिक कमोडिटी कीमतों में बढ़ोतरी का असर ऑपरेटिंग मुनाफे पर पड़ा। पहती तिमाही के अंत तक कंपनी के पास 2.8 लाख गाड़ियों का ऑर्डर लंबित है। सेमीकंडक्टर (चिप) की कमी के कारण 51,000 गाड़ियों का उत्पादन नहीं हो पाया है। कंपनी का पूरा फोकस लंबित ऑर्डर को जल्द पूरा करने पर फोकस है। कंपनी ने वित्त वर्ष 2023 की पहली तिमाही में गाड़ियों का रिकॉर्ड निर्यात किया जो अबतक का सबसे अधिक है। कंपनी ने पहली तिमाही में कुल 69437 इकाई गाड़ियां निर्यात की। पिछले साल इसी अवधि में कंपनी ने 45,519 गाड़ियों का निर्यात किया था। कंपनी ने पहली तिमाही के दौरान कुल 4.67 लाख गाड़ियां बेची। इसमें घरेलू बाजार में बेची गई 3.98 लाख गाड़ियां शामिल है। कमोडिटी कीमतों में बढ़ोतरी के कारण कंपनी को दाम बढ़ाना पड़ा। बढ़े हुए कमोडिटी के असर को कम करने के लिए कंपनी ने दाम बढ़ाने का फैसला लिया था। कंपनी लगातार लागत घटाने की दिशा में काम कर रही है ताकि ग्राहकों पर इसका असर कम पड़े। एनएसई (NSE) पर कंपनी का शेयर 1.46% जबकि बीएसई (BSE) पर 1.62% चढ़ कर बंद हुआ।

(शेयर मंथन 27 जुलाई, 2022)

Add comment

 

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : डाउनलोड करें

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

शेयर मंथन पर तलाश करें।

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"