आरबीएल बैंक (RBL Bank) को प्रत्यक्ष कर संग्रह के लिए आरबीआई से मिली अनुमति

आरबीएल बैंक (RBL Bank) को भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड कीओर से प्रत्यक्ष कर संग्रह (डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन) के लिए अधिकृत कर दिया है।

आरबीएल बैंक के तकनीकी एकीकरण (टेक्निकल इंटीग्रेशन) के बाद इसके कॉर्पोरेट और व्यक्तिगत ग्राहक मोबाइल बैंकिंग, नेट बैंकिंग और साथ ही बैंक की शाखाओं के जरिये भी अपने प्रत्यक्ष कर जमा कर सकेंगे। इससे ग्राहकों को आसानी और सुविधा होगी।
आरबीएल बैंक की फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशंसऐंड गवर्नमेंट बैंकिंग हेड पारुल सेठ ने इस संबंध में कहा, 'हमें जो अहम जवाबदेही सौंपी गयी है, उसके लिए बैंक के प्रबंधन को बहुत खुशी है। इससे हमें अपने ग्राहकों केलिए सेवाओं का विस्तार करने और उन्हें विभिन्न माध्यमों के जरिये टैक्स जमा करने की सुविधा उपलब्ध कराने में मदद मिलेगी। हम इस सुविधा को सहज तरीके से लागू करने के लिए भारत सरकार और आरबीआई के साथ मिल कर काम कर रहे हैं।'
आरबीएल बैंक (RBL Bank) की उपस्थिति
आरबीएल बैंक भारत का एक प्रमुख निजी बैंक है, जिसकी मौजूदगी लगभग देश भर में है। यह बैंक मुख्य रुप से पाँच व्यवसाय श्रेणियों - कॉर्पोरेट एंड इंस्टीट्यूशनल बैंकिंग, कमर्शियल बैंकिंग, ब्रांच ऐंड बिजनेस बैंकिंग, रिटेल एसेट्स और ट्रेजरी ऐंड फाइनेंशियल मार्केट ऑपरेशंसमें अपनी सेवाएँ उपलब्ध कराता है। देश के 28 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में अपनी 445 शाखाओं के माध्यम से आरबीएल बैंक 99.7 लाख ग्राहकों को बैंकिंग सुविधाएँ उपलब्ध कराता है। इसके साथ ही बैंक के नेटवर्क में 1,435 बिजनेस कॉरेस्पॉन्डेंट ब्रांच (जिसमें 271 बैंकिंग आउटलेट हैं) और 386 एटीएम शामिल हैं। (शेयर मंथन, 18 नवंबर 2021)

Add comment

 

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : डाउनलोड करें

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

शेयर मंथन पर तलाश करें।

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"