बेस मेटल में मिला-जुला रुझान रहने की संभावना - एसएमसी

बेस मेटल की कीमतों के नरमी के रुझान के साथ सीमित दायरे में कारोबार करने की संभावना हैं।

तांबे की कीमतें 514 रुपये के स्तर पर बाधा के साथ 505 रुपये के स्तर पर पहुँच सकती है। लंदन मेटल एक्सचेंज (एलएमई) के गोदामों में उपलब्ध भंडार में कमी और तत्काल वितरण के लिए धातु की कीमत में बढ़ोतरी के कारण कल लंदन में तांबे की कीमतों में बढ़ोतरी हुई। डॉलर भी लगभग दो वर्षो में सबसे कमजोर हो गया, जिससे संयुक्त राज्य अमेरिका के बाहर खरीदारों के लिए धातु सस्ता हो गया। एलएमई-पंजीकृत गोदामों में ऑन-वारंट तांबे का भंडार मई के मध्य में लगभग 250,000 टन से 55,950 टन तक कम हो गया। माइनर एंटोफगास्टा और इसकी जालिवर खदान में श्रमिकों का संघएक नये अनुबंध के लिए सरकार की मध्यस्थता वाली वार्ता को जारी रखने और हड़ताल से बचने का फैसला किया। सर्वेक्षणों के अनुसार फ्रांस और जर्मनी में उपभोक्ता और व्यापारिक विश्वास में बढ़ोतरी हुई है, लेकिन दक्षिण कोरिया ने दूसरी तिमाही में मंदी का सामना किया।
जिंक की कीमतें 174 रुपये के स्तर पर सहारा के साथ 178 रुपये के स्तर पर पहुँच सकती हैं। लेड की कीमतें 149 रुपये के स्तर पर अड़चन के साथ 145 रुपये के स्तर पर पहुँच सकती हैं। निकल की कीमतों में गिरावट लगभग पूरी हो गयी है और अब उछाल दर्ज की जा रही है और 1,006 रुपये के स्तर पर सहारा के साथ 1,045 रुपये के स्तर पर पहुँच सकती है। इलेक्ट्रिक कार निर्माता टेस्ला के बॉस एलोन मस्क ने खनिकों से बैटरी के लिए अधिक निकल उत्पादन करने का आग्रह किया है। एल्युमीनियम की कीमतें 140 रुपये के पास अड़चन के साथ 136 रुपये के स्तर पर पहुँच सकती हैं। जून में चीन का एल्युमीनियम आयात में साल दर साल 490% से अधिक बढ़कर 11 साल के उच्च स्तर 288,783 टन पर पहुँच गया है। (शेयर मंथन, 24 जुलाई 2020)

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : जून 2020 अंक डाउनलोड करें

शेयर मंथन पर तलाश करें।

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"