बीते साल 11% बढ़ गयी म्यूचुअल फंडों की परिसंपत्ति

म्यूचुअल फंडों की परिसंपत्ति में लगातार दूसरे साल वृद्धि दर्ज हुई है। साल 2013 में म्यूचुअल फंडों की परिसंपत्ति में लगभग 85,000 करोड़ रुपये यानी तकरीबन 11% बढ़ोतरी दर्ज की गयी।
एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स ऑफ इंडिया (AMFI) के आँकड़ों के अनुसार, साल 2013 के अंत में म्यूचुअल फंड उद्योग की 44 कंपनियों द्वारा प्रबंधित की जाने वाली परिसंपत्ति (एयूएम) 8,77,973 करोड़ रुपये रही। ध्यान रहे कि साल 2012 के आखिर में इनका औसत एयूएम 7,93,331 करोड़ रुपये रहा था। इससे पहले साल 2012 में भी म्यूचुअल फंडों की परिसंपत्ति बढ़ी थी। 
साल 2013 में 44 में से 26 कंपनियों के एयूएम में वृद्धि हुई, जबकि 17 के एयूएम में गिरावट दर्ज की गयी। दाइवा म्यूचुअल फंड की योजनाओं को एसबीआई म्यूचुअल फंड को स्थानांतरित कर दिया गया है और भारतीय प्रतिभूति एवं विनियामक प्राधिकरण (SEBI) ने दाइवा का पंजीकरण रद्द कर दिया है। बीते साल आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल एमएफ के एयूएम में 19% और रिलायंस म्यूचुअल फंड के एयूएम में 13% की वृद्धि हुई। इस दौरान एचडीएफसी म्यूचुअल फंड के एयूएम में 7.5% की बढ़ोतरी दर्ज की गयी। कैनरा रोबेको, गोल्डमैन सैक्स, इडलवाइज, आईडीबीआई, इंडियाबुल्स एमएफ और टाटा एमएफ के एयूएम में इस साल गिरावट दर्ज की गयी।  
सबसे अधिक एयूएम के लिहाज से एचडीएफसी एमएफ पहले स्थान पर कायम है। इस लिहाज से दूसरे स्थान पर रिलायंस एमएफ और तीसरे स्थान पर आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल एमएफ है। (शेयर मंथन, 04 जनवरी 2014) 

Add comment

Security code Refresh

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : अप्रैल 2019 अंक डाउनलोड करें

वीडियो सूची

शेयर मंथन पर तलाश करें।

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"