जेपी एसोसिएट्स (Jaiprakash Associates) में फँसे हैं, और खरीद लें क्या?

मोहम्मद सोयेब, अहमदाबाद : मैंने जेपी एसोसिएट्स (Jaiprakash Associates) के 1,000 शेयर सितंबर 2018 में 11.10 रुपये के औसत भाव पर खरीदे थे। क्या मुझे इसमें और खरीदारी करनी चाहिए, जिससे मेरी औसत लागत कम हो जाये, या इसे छोड़ दें?

ताजा स्थिति : शुक्रवार 22 नवंबर 2019 का बंद भाव 2.12 रुपये (0.93% नीचे)
संजीव भसीन, ईवीपी, आईआईएफएल सिक्योरिटीज : सबको पता है कि अभी जयप्रकाश एसोसिएट्स में किस तरह की समस्याएँ चल रही हैं। मेरा यह सुझाव होगा कि इस शेयर में कोई तेजी आने पर आप इससे बाहर निकल जायें। लेकिन यदि आपको पैसा निकालने की हड़बड़ी नहीं हो तो इसमें बैठे रहें। देर-सबेर एनबीसीसी को जेपी इन्फ्रा की परियोजनाओं के लिए बिल्डर नियुक्त कर दिया जायेगा। उनको काफी रियायतें दी गयी हैं, तमाम शुल्क माफ कर दिये गये हैं, और ब्याज सबवेंशन की भी माफी मिल जायेगी। इसके बाद सम ऑफ द पार्ट्स में बैंकों को काफी पैसा वापस मिल जायेगा। इसलिए जब भी इसका समाधान होगा, तो जेपी एसोसिएट्स की बाजार पूँजी (मार्केट कैप) केवल 500 करोड़ रुपये की नहीं होनी चाहिए। मुझे लगता है कि तब इसका भाव 6-8 रुपये पर जा सकता है। इसलिए अगर आप इस निवेश को 1 साल के लिए रखे रह कर बैठ सकते हैं, तो इसमें बने रहें। अगर नहीं रुक सकते, तो इसमें से निकल कर आप वह पैसा फेडरल बैंक में लगा दें, तो आपका पैसा धीरे-धीरे वापस आ जायेगा। लेकिन अभी मैं जेपी एसोसिएट्स में आपको नयी खरीदारी करने की सलाह नहीं दूँगा, क्योंकि एक गिरते हुए शेयर में औसत लागत घटाने के लिए नीचे खरीदने की रणनीति कभी नहीं अपनानी चाहिए। यह आपका सिद्धांत होना चाहिए।
अस्वीकरण (Disclaimer): शेयरों में हमारे सौदे होते रहते हैं। अभी फेडरल बैंक में हमारा निवेश है और हम इसके बारे में लोगों को खरीदने की सलाह भी देते हैं। मैंने व्यक्तिगत रूप से निचले भावों पर जेपी एसोसिएट्स भी खरीद रखा है।
(शेयर मंथन, 22 नवंबर 2019)

(आप भी किसी शेयर, म्यूचुअल फंड, कमोडिटी आदि के बारे में जानकारों की सलाह पाना चाहते हैं, तो सवाल भेजने का तरीका बहुत आसान है! बस, हमारे व्हाट्सऐप्प नंबर +911147529834 पर अपने नाम और शहर के नाम के साथ अपना सवाल भेज दें।)

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : अप्रैल 2019 अंक डाउनलोड करें

शेयर मंथन पर तलाश करें।

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"