मासिक निपटान या मंथली एक्सपायरी के दिन बाजार निचले स्तर से शानदार रिकवरी के साथ बंद

वैश्विक बाजारों से मिले-जुले संकेत देखने को मिले। भारतीय बाजार की आज मजबूती के साथ शुरुआत हुई, लेकिन यह ज्यादा देर तक टिक नहीं सकी। थोड़ी देर बाद ही बाजार ने सारी बढ़त गंवा दी।

लगातार तीसरे कारोबारी दिन बाजार उतार-चढ़ाव के बीच गिरावट के साथ बंद

वैश्विक बाजारों से मिले-जुले संकेत देखने को मिले। सुबह में एसजीएक्स की हल्की मजबूती के साथ शुरुआत हुई। भारतीय बाजार की आज मजबूती के साथ शुरुआत हुई, लेकिन यह ज्यादा देर तक टिक नहीं सकी। थोड़ी देर बाद ही बाजार ने सारी बढ़त गंवा दी। आज के कारोबार में दिनभर उतार-चढ़ाव देखने को मिला।

दिनभर उतार-चढ़ाव के बीच दूसरे कारोबारी दिन भी बाजार गिरावट के साथ बंद

वैश्विक बाजारों से मिले-जुले संकेत देखने को मिले। सुबह में एसजीएक्स की मजबूत शुरुआत हुई लेकिन यह टिक नहीं सकी। इसका असर साफ तौर पर भारतीय बाजारों पर भी देखने को मिला।

हफ्ते के पहले कारोबारी दिन बाजार उठा-पटक के बीच गिरावट के साथ बंद

वैश्विक बाजारों से मिले-जुले संकेत देखने को मिले। बाजार की आज हल्की मजबूती के साथ शुरुआत हुई। लेकिन यह मजबूती ज्यादा देर तक टिक नहीं सकी और बाजार ने पूरी बढ़त गवां दी। आजके कारोबार में दिनभर उतार-चढ़ाव देखने को मिला।

हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन बाजार जबरदस्त तेजी के साथ बंद

वैश्विक बाजारों से हल्के मजबूत संकेत देखने को मिले। हालाकि सुबह 6:30 बजे एसजीएक्स (SGX) निफ्टी 150 अंकों से ज्यादा की मजबूती के साथ खुला। यहीं नहीं एशिया के दूसरे बाजारों में भी खरीदारी देखी गई। इसका असर भारतीय बाजारों पर भी दिखा। बाजार की आज मजबूत शुरुआत हुई।

साप्ताहिक निपटान या वीकली एक्सपायरी के दिन बाजार भारी गिरावट के साथ बंद

वैश्विक बाजारों से आज बेहद ही खराब संकेत रहे। ग्रोथ और महंगाई की चिंता से अमेरिकी बाजारों में कल भारी गिरावट देखने को मिली। अमेरिकी बाजारों में पिछले 2 सालों की सबसे बड़ी गिरावट देखी गई।

साप्ताहिक निपटान या वीकली एक्सपायरी से पहले बाजार में सपाट कारोबार

बाजार की मजबूती के साथ शुरुआत हुई, लेकिन यह मजबूती टिक न सकी। कारोबारी हफ्ते के मध्य में बाजार पर थोड़ा दबाव देखने को मिला। बाजार में आज उतार-चढ़ाव वाला कारोबार देखा गया।

कारोबारी हफ्ते के दूसरे दिन बाजार शानदार तेजी के साथ बंद

बाजार की मजबूती के साथ शुरुआत हुई। कारोबारी सत्र के दौरान निफ्टी 50 (Nifty 50) ने 15,900 का निचला स्तर जबकि 16,284 का ऊपरी स्तर छुआ। सेंसेक्स (Sensex) ने 53,176 का निचला स्तर जबकि 54,399 का ऊपरी स्तर छुआ। 

वित्त वर्ष 2022 में माइक्रो फाइनेंस इंडस्ट्री का लोन पोर्टफोलियो 5 फीसदी बढ़ा

वित्त वर्ष 2022 में माइक्रो फाइनेंस इंडस्ट्री का लोन पोर्टफोलियो 5 फीसदी बढ़कर 2.62 लाख करोड़ रुपए रहा। यह रिपोर्ट Sa-Dhan यानी साधन की ओर से जारी किया गया है। पिछले साल इसी अवधि में माइक्रो फाइनेंस इंडस्ट्री का लोन 2.50 लाख करोड़ रुपए रहा था। आपको बता दें कि 'साधन' माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूशंस के लिए भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से मान्यता प्राप्त सेल्फ रेगुलेटरी ऑर्गेनाइजेशन है। वित्त वर्ष 2022 की आखिरी तिमाही में इंजस्ट्री का कुल लोन पोर्टफोलियो में 13 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई है।

कारोबारी हफ्ते के पहले दिन बाजार गिरावट के साथ बंद

वैश्विक बाजारों से कमजोर संकेतों के कारण एसजीएक्स (SGX) निफ्टी गिरावट के साथ खुला। एसजीएक्स (SGX) निफ्टी की कमजोरी का असर भारतीय बाजारों पर भी देखने को मिला। बाजार की आज कमजोरी के साथ शुरुआत हुई। बाजार में ऊपरी स्तर पर मुनाफावसूली से बिकवाली का दबाव देखा गया।

हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन बाजार गिरावट के साथ बंद

एक्शन के लिहाज से यह हफ्ता काफी दिलचस्प रहा। एलआईसी के आईपीओ के खुलने से लेकर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के रेपो रेट में सरप्राइज बढ़ोतरी भी कम दिलचस्प नहीं रहा। वहीं यूएस फेड ने भी इसी हफ्ते ब्याज दरों में बढ़ोतरी का ऐलान किया था। कारोबारी हफ्ते के आखिरी दिन बाजार की कमजोरी के साथ शुरुआत हुई। वैश्विक बाजारों से मिले कमजोर संकेतों का असर भारतीय बाजार पर भी देखने को मिला।

वीकली एक्सपायरी या साप्ताहिक निपटान के दिन बाजार सपाट बंद

बाजार की आज मजबूती के साथ शुरुआत हुई, लेकिन बाजार बंद होने तक ये मजबूती बरकरार नहीं रह सकी। बाजार में ऊपरी स्तर पर मुनाफावसूली से बिकवाली का दबाव देखा गया। डाओ फ्यूचर्स में कमजोरी से सेंटिमेंट बिगड़ा।

हफ्ते के दूसरे कारोबारी दिन बाजार भारी गिरावट के साथ बंद, बाजार पर भारी पड़ा आरबीआई का रेपो रेट में सरप्राइज बढ़ोतरी

बाजार की आज हल्की मजबूती के साथ शुरुआत हुई, लेकिन ये मजबूती बरकरार नहीं रह सकी। कारोबारी सत्र के आखिरी दौर में आरबीआई गवर्नर के दरों में बढ़ोतरी के ऐलान के बाद तो मानो बाजार में भूचाल आ गया और बाजार दिन के निचले स्तर के करीब बंद हुआ।

भारतीय रिजर्व बैंक का रेपो रेट 0.40% बढ़ाने का ऐलान,सीआरआर भी 0.50 फीसदी बढ़ा

देश में लगातार बढ़ रही महंगाई पर नियंत्रण के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने मोनेटरी पॉलिसी कमेटी (MPC) की 2-4 मई को आपात बैठक बुलाई। बैठक के बाद एमपीसी के सभी सदस्यों ने एक राय से रेपो रेट में बढ़ाने पर सहमति जताई। आरबीआई ने रेपो रेट यानी बेंचमार्क लेंडिंग रेट 4% से बढ़कर 4.40% करने का ऐलान किया है। आरबीआई के इस कदम से न केवल व्यक्तिगत कर्ज बल्कि कॉरपोरेट्स के लिए भी कर्ज की लागत महंगी हो जाएगी।

अब तक के सबसे ऊपरी स्तर पर पहुंचा अप्रैल जीएसटी कलेक्शन

अप्रैल में जीएसटी कलेक्शन अब तक के सबसे ऊपरी स्तर पर पहुंच गया है। अप्रैल में जीएसटी कलेक्शन 1.68 लाख करोड़ रुपए के पार पहुंच गया है। अप्रैल में जीएसटी कलेक्शन पिछले साल के मुकाबले 20 फीसदी ज्यादा है। वित्त मंत्रालय ने कहा कि जीएसटी कलेक्शन में बढ़ोतरी के पीछे (कंप्लायंस) नियमों के पालन में सुधार होना है। अप्रैल 2022 में जीएसटीआर-3बी में 1.06 करोड़ जीएसटी रिटर्न फाइल किए गए।

अप्रैल महीने के आखिरी कारोबार के दिन बाजार गिरावट के साथ बंद

कारोबार के लिहाज से यह हफ्ता काफी उतार-चढ़ाव वाला रहा। अमेरिका में यूएस फेड के ब्याज दरें बढ़ाने की आशंका के कारण वैश्विक बाजार में कमजोरी देखी गई। हफ्ते के मध्य में भारतीय बाजारों में हल्का सुधार देखने को मिला। हालाकि एलआईसी के आईपीओ से बाजार को थोड़ा सहारा मिला। कारोबार के दौरान बाजार में नतीजों का भी खासा असर देखने को मिला।

 

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : डाउनलोड करें

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

शेयर मंथन पर तलाश करें।

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"