मई में आयात 62.83% बढ़कर 6322 करोड़ डॉलर के स्तर पर पहुंचा

मई में व्यापार घाटा 653 करोड़ डॉलर से बढ़कर 2429 करोड़ डॉलर तक पहुंच गया है। (YoY)। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक
व्यापार घाटे में बढ़ोतरी की मुख्य वजह आयात में बढ़ोतरी है।

 मई में व्यापार घाटा 653 करोड़ डॉलर से बढ़कर 2429 करोड़ डॉलर तक पहुंच गया है। (YoY)। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक
व्यापार घाटे में बढ़ोतरी की मुख्य वजह आयात में बढ़ोतरी है जो सालाना आधार पर 62.83% बढ़कर 6322 करोड़ डॉलर तक पहुंच गया है। वहीं निर्यात 20.55% बढ़कर
3894 करोड़ डॉलर के स्तर पर पहुंच गया है। 2022-23 में अप्रैल-मई के दौरान निर्यात 25% बढ़कर 7872 करोड़ डॉलर तक पहुंच गया है। वहीं इसी अवधि में आयात 45.42% बढ़कर 12341 करोड़ डॉलर तक पहुंच गया है। नए वित्त वर्ष के शुरुआती 2 महीने में व्यापार घाटा बढ़कर 4469 करोड़ डॉलर तक पहुंच गया है जो कि पिछले साल इसी अवधि में 2182 करोड़ डॉलर तक पहुंच गया है। मई में सोने का आयात 789.2% बढ़कर 603 करोड़ डॉलर दर्ज किया गया है। मई में ऑयल का आयात 102.7% बढ़कर 1920 करोड़ डॉलर रहा। वहीं नॉन ऑयल का आयात 50% बढ़कर 4403 करोड़ डॉलर रहा। मई महीने में इलेक्ट्रॉनिक गुड्स का आयात 34% बढ़कर 968 करोड़ डॉलर रहा। पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स का निर्यात 60.9% बढ़कर 855 करोड़ डॉलर के स्तर पर पहुंच गया है। इंजीनियरिंग गुड्स का निर्यात 12.7% बढ़कर 971 करोड़ डॉलर दर्ज किया गया। मई महीने में जेम्स एंड ज्वैलरी का निर्यात 8.7% बढ़कर 323 करोड़ डॉलर के स्तर पर पहुंच गया है।

(शेयर मंथन 15 जून,2022)

 

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : डाउनलोड करें

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

शेयर मंथन पर तलाश करें।

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"