पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitley) का निधन

भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitley) का आज दोपहर दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में निधन हो गया।

66 वर्षीय जेटली को साँस लेने में दिक्कत की शिकायत के बाद एम्स में भर्ती करवाया गया था, जहाँ उन्हें पिछले कई दिनों से लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पिछली सरकार में वित्त मंत्री रहे अरुण जेटली स्वास्थ्य कारणों से मौजूदा केंद्र का हिस्सा नहीं बन सके।
अरुण जेटली का जन्म दिसंबर 1952 में दिल्ली में हुआ था। जेटली ने दिल्ली के सेंट जेवियर स्कूल से पढ़ाई के बाद श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से बीकॉम किया था। साथ ही उन्होंने कानून की डिग्री भी हासिल की थी। जेटली ने अपनी राजनीतिक सफर की शुरुआत अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के साथ की थी। इसके बाद देश में आपातकाल के दौरान उन्हें 19 महीने जेल में बिताने पड़े। जेटली 1999 में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में भी मंत्री रहे थे।
जेटली के निधन पर भाजपा के अलावा अन्य पार्टियों के नेताओं ने भी शोक जताया है, जिनमें प्रधानमंत्री मोदी के अलावा यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, एचडी कुमारास्वामी, कपिल सिबल, नवीन पटनायक, सोनिया गांधी, पीयूष गोयल शामिल हैं। रविवार सुबह 10 बजे से अरुण जेटली का पार्थिव शरीर भाजपा के दिल्ली मुख्यालय में अंतिम दर्शन के लिए रखा जायेगा और उसके बाद निगमबोध घाट में उनका अंतिम संस्कार किया जायेगा। (शेयर मंथन, 24 अगस्त 2019)

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : अप्रैल 2019 अंक डाउनलोड करें

शेयर मंथन पर तलाश करें।

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"