मई महीने में थोक महंगाई दर 15.08% से बढ़कर 15.88% के स्तर पर पहुंचा

मई महीने में थोक महंगाई दर 15.88% के स्तर पर पहुंच गया है, जबकि पिछले महीने यानी अप्रैल में यह 15.08% था। पिछले साल इसी अवधि में थोक महंगाई दर 13.11% फीसदी था।

 मई महीने में थोक महंगाई दर 15.08% से बढ़कर 15.88% के स्तर पर पहुंच गया है। वहीं पिछले साल इसी अवधि में थोक महंगाई दर 13.11% फीसदी था।थोक महंगाई दर में बढ़ोतरी के पीछे खास वजह सब्जियों की महंगाई दर अप्रैल के 23.24% से बढ़कर 56.36% होना है। वहीं खाद्य महंगाई दर 8.88% से बढ़कर 10.89% रहा (MoM)। मैन्युफैक्चर्ड प्रोडक्ट की थोक महंगाई दर 10.85% से घटकर 10.11% (MoM) दर्ज हुआ। आपको बता दें कि थोक महंगाई दर का आंकड़ा लगातार 14 महीने से दहाई आंकड़े में बना हुआ है। इसके अलावा महंगाई में योगदान देने में मिनरल्स ऑयल, क्रूड पेट्रोलियम और नेचुरल गैस, खाद्य और गैर खाद्य वस्तुएं, केमिकल और केमिकल उत्पादों की बढ़ी हुई कीमतें हैं। मैन्युफैक्चरिंग सेगमेंट में गिरावट की वजह खाने के तेल की कीमतों में कमी है जो 15.05% से घटकर 11.41% (MoM) दर्ज किया गया है। वहीं बेसिक मेटल्स की थोक महंगाई दर 24.81% से घटकर 18.88% के स्तर पर आ गया है। मिनरल्स ऑयल की कीमतों में बढ़ोतरी से फ्यूल एंड पावर की थोक महंगाई दर 38.66% से बढ़कर 40.62% के स्तर पर पहुंच गया। खास बात यह रही कि कोयला और बिजली की थोक महंगाई दर में कोई बदलाव नहीं देखने को मिला। थोक महंगाई दर का आंकड़ा रिटेल महंगाई के 7.04% के निचले स्तर पर आने के बाद आया है। ऐसे में थोक महंगाई की बढ़ी हुई दरें रिटेल महंगाई पर भी असर डाल सकती है। आपको बता दें कि 8 जून को भारतीय रिजर्व बैंक ने अपने मोनेटरी पॉलिसी में वित्त वर्ष 2023 के लिए महंगाई अनुमान 5.7% से बढ़ाकर 6.7% किया है। रिटेल महंगाई दर में बढ़ोतरी का यह अनुमान वैश्विक स्तर पर कमोडिटी की कीमतों में बढ़ोतरी के आधार पर किया है। प्राइमरी आर्टिकल थोक महंगाई दर 15.45% से बढ़कर 19.71% पर पहुंच गया है। कोर थोक महंगाई दर 11% से घटकर 10.05% के स्तर पर आ गया है। वहीं दालों की थोक महंगाई दर में कमी आई है और यह -0.34% से घटकर -3.69% हो गया है। प्याज की कीमतों में भी गिरावट देखी गई है और यह -4.02% से घटकर -20.4% के स्तर पर आ गया है। आलू की थोक महंगाई दरों में बढ़ोतरी देखी गई है और यह 19.84% से बढ़कर 24.83% पर पहुंच गया है। दूध की थोक महंगाई दर में मामूली बढ़त देखने को मिली है और यह 5.11% से बढ़कर 5.81% के स्तर पर पहुंच गया है। वहीं फलों की थोक महंगाई दर में हल्की गिरावट देखने को मिली है और यह 10.89% से घटकर 9.98% पर आ गया है। अंडा, मीट, मछली की थोक महंगाई दर करीब दोगुना बढ़कर 4.5% से 7.78% के स्तर पहुंच गया है।

(शेयर मंथन 14 जून)

 

 

 

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : डाउनलोड करें

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

शेयर मंथन पर तलाश करें।

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"