जीडीपी विकास की दर 17 तिमाहियों के निचले स्तर पर

वित्तीय वर्ष 2018-19 की चौथी तिमाही यानि जनवरी-मार्च तिमाही में कृषि और विनिर्माण क्षेत्रों में खराब प्रदर्शन के कारण देश के जीडीपी विकास (GDP growth) की दर 5.8% रही है।

यह पिछली 17 तिमाहियों के दौरान निम्नतम है। शुक्रवार को केंद्रीय सांख्यिकीय संगठन (CSO) की ओर से जारी किये गये आँकड़ों के मुताबिक वित्तीय वर्ष 2018-19 के दौरान देश के जीडीपी विकास की दर 6.8% रही है। इससे पिछले वर्ष यानि वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान भारत की जीडीपी में 7.2% की दर से बढ़ोतरी दर्ज की गयी थी। साल-दर-साल के लिहाज से देखें तो वित्त वर्ष 2014-15 के बाद यह जीडीपी विकास के मोर्चे पर सबसे खराब प्रदर्शन है। वित्त वर्ष 2013-14 में देश की जीडीपी 6.4% की दर से बढ़ी थी।
श्रम मंत्रालय की ओर से जारी एक आँकड़े के मुताबिक वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान देश के कुल श्रम बल का 6.1% बेरोजगार रहा, जो पिछले 45 साल में सबसे अधिक है। अखिल भारतीय स्तर पर इस दौरान पुरुषों में 6.2% और महिलाओं में 5.7% बेरोजगारी रही। (शेयर मंथन, 31 मई 2019)

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : मार्च 2020 अंक डाउनलोड करें

शेयर मंथन पर तलाश करें।

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"