एचडीएफसी लाइफ (HDFC Life) ने पेश किया एचडीएफसी लाइफ पेंशन गारंटीड प्लान

भारत की प्रमुख जीवन बीमा कंपनियों में से एक एचडीएफसी लाइफ (HDFC Life) ने एचडीएफसी लाइफ पेंशन गारंटीड प्लान (HDFC Life Pension Guaranteed Plan) शुरू किया है।

यह अपने किस्म का पहला एकल प्रीमियम वार्षिकी (Annuity) उत्पाद है, जो खरीद के समय ही आजीवन आश्वस्त आस्थगित वार्षिकी दर (Deferred Annuity Rate) उपलब्ध करता है। दरअसल लोग दीर्घकालिक वित्तीय योजना बनाते हुए, अक्सर, सबसे महत्वपूर्ण पक्ष को दरकिनार कर देते हैं और वह है सेवानिवृत्ति योजना। जब उनकी उम्र 50 या इससे अधिक हो जाती है तब वे सेवानिवृत्ति योजना के बारे में सोचते हैं। स्वास्थ्यय सेवा सुविधाओं में सुधार से आयु में वृद्धि और जीवन की गुणवत्ता बेहतर हुई है। ऐसे में यह सुनिश्चित करना जरूरी है की लोग सेवानिवृत्ति के बाद आरामदायक जीवन जियें।
बाज़ार में उतार-चढ़ाव और ब्याज दर में कमी के मौजूदा माहौल में यह भविष्वाणी करना मुश्किल है कि आज से 10 बाद वार्षिकी की दर क्या होगी। एचडीएफसी पेंशन गारंटीड प्लान खरीद के समय ही आस्थगित वार्षिकी योजना के लिए गारंटी के साथ वार्षिकी दर के अनूठे फायदे की पेशकश करता है। यह योजना उच्चतर वार्षिकी की पेशकश के साथ उन लोगों के लिए बेहद फायदेमंद है जो दीर्घकालिक योजना बनाते हैं। लोग योजना खरीदकर 10 साल बाद वार्षिकी प्राप्त करने का विकल्प चुन सकते हैं। हालांकि, 10 साल बाद वार्षिकी की वही दर प्रदान की जायेगी जो खरीद के समय यानि आज तय होगी। यह खरीद मूल्य की वापसी के साथ आता है ताकि यह सुनिश्चित हो लोग अपने प्रियजन के लिए बड़ी राशि छोड़ जायें। एचडीएफसी पेंशन गारंटीड प्लान वार्षिकी प्राप्त करने के विकल्पों में लचीलेपन की पेशकश करता है – इसे, मासिक, तिमाही, अर्धवार्षिक या वार्षिक तौर पर प्राप्त करने का विकल्प चुना जा सकता है। इसके अलावा संयुक्त जीवन विकल्प उनके लिए बेहतर हैं जो इसका फायदा अपने जीवनसाथी को देना चाहते हैं।
इस मौके पर एचडीएफसी लाइफ के वरिष्ठ कार्यकारी उपाध्यक्ष (मुख्य एक्चुअरी तथा नियुक्त एक्चुअरी) श्री श्रीनिवासन पार्थसारथी ने कहा भारतीयों के पास सामाजिक सुरक्षा नहीं है, इसलिए यह आवश्यक है कि हम हर तरह की परिस्थिति से निपटने के लिए अपने आपको वित्तीय तौर पर सुरक्षित रखें। संयुक्त परिवार अब चलन में नहीं है, जिसका अर्थ है की सेवानिवृत्ति के बाद लोगों को अपने खर्च के लिए वित्तीय तौर पर तैयार होने की ज़रूरत है या फिर वे बच्चों पर निर्भर करें। पहला विकल्प वार्षिकी के ज़रिये प्राप्त किया जा सकता है। हालांकि वार्षिकी की दर आज स्वीकार्य हो सकती है लेकिन यदि ब्याज दर गिरे तो सेवानिवृत्ति के समय खरीदी गयी वार्षिकी आज के मुकाबले कम होगी। दरअसल कोई भी ऐसी गारंटीशुदा वार्षिकी की पेशकश नहीं करता जो भविष्य में शुरू हो। उन्होंने कहा, “हमने एचडीएफसी पेंशन गारंटीड प्लान तैयार किया है ताकि सेवानिवृत्ति के बाद लोगों का जीवन सुरक्षित हो। आस्थगित वार्षिकी से ज़ल्दी सेवानिवृत्ति योजना तैयार करने वालों को फायदा होगा जिसके तहत खरीद के समय ही ऐसी वार्षिकी दर की पेशकश की जाती है जो जीवन भर के लिए गारंटीशुदा होती है। लोगों को वार्षिकी के दर जानने के लिए सेवानिवृत्ति तक का इंतज़ार नहीं करने की ज़रुरत नहीं है। इसके अलावा जो अपनी सेवानिवृत्ति योजना पहले करते हैं उन्हें ऊंची वार्षिकी दर का फायदा होता है, जो आस्थगित अवधि के आधार पर 13% तक हो सकता है। अधेड़ लोगों की बढती आबादी और विस्तृत होते मध्य वर्ग को परिसंपत्ति वर्ग के तौर पर वार्षिकी को ठीक से समझने की ज़रूरत है, क्योंकि उन्हीं को इसका सबसे ज्यादा फायदा होगा। (शेयर मंथन, 13 फरवरी 2018)

Comments 

Ajay Kumar
+1 # Ajay Kumar 2018-05-28 09:41
hdfc life me job chahiye
Reply | Report to administrator

Add comment

Security code Refresh

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : नवंबर 2017 अंक डाउनलोड करें

वीडियो सूची

शेयर मंथन पर तलाश करें।

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"