एरिस लाइफसाइंस ने 650 करोड़ रुपए में किया ओकनेट हेल्थकेयर का अधिग्रहण

 एरिस लाइफसाइंस ने ओकनेट हेल्थकेयर का अधिग्रहण 650 करोड़ रुपए में किया है। आपको बता दें कि ओकनेट हेल्थकेयर मुंबई की एक कंपनी है जिसका फोकस त्वचा से जुड़ी घरेलू फॉर्मूलेशंस पर है।

अधिग्रहण की प्रक्रिया शेयर खरीद समझौते के जरिए पूरी की जाएगी। इस प्रक्रिया के पूरी होते ही ओकनेट हेल्थकेयर एरिस लाइफसाइंस की सब्सिडियरी बन जाएगी। कंपनी अधिग्रहण के लिए जरुरी रकम 650 करोड़ रुपए में से 300 करोड़ रुपए आंतरिक स्रोतों से जुटाएगी जबकि बाकी के 350 करोड़ रुपए की रकम कर्ज के जरिए जुटाएगी।
एरिस लाइफसाइंस के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अमित बख्शी ने कहा कि ओकनेट के अधिग्रहण से कंपनी को एक ऐसा प्लैटफॉर्म मिल जाएगा जो डर्मैटोलॉजी ( स्किन से जुड़ी) और कॉस्मेटोलॉजी से जुड़े कारोबार को बढ़ावा देने में मददगार साबित होगा। स्ट्राइड्स और जोमेलिस के अधिग्रहण की तर्ज पर हमे विश्वास है कि ओकनेट के साथ किया गया सौदा शेयरधारकों के लिए लंबी अवधि में वैल्यू का निर्माण करेगा। ओकनेट हेल्थकेयर का वित्त वर्ष 2022 में 195 करोड़ रुपए की आय रही थी। ओकनेट पहले से ही डर्मैटोलॉजी में स्थापित जाने-माने ब्रांड का पोर्टफोलियो है। साथ ही कंपनी के पास महिलाओं के स्वास्थ्य से जुड़ी दवाइयां भी उपलब्ध हैं। ओकनेट की देशभर में त्वचा के 11000 डॉक्टर्स तक पहुंच हैं। ओकनेट के अधिग्रहण से एरिस लाइफसाइंस के पोर्टफोलियो में कॉस्वेट, कॉस्मेलाइट जैसे ब्रांड्स शामिल होंगे। एरिस लाइफसाइंस के कार्यकारी निदेशक और चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर कृष्णकुमार वी के मुताबिक इस अधिग्रहण से कई स्तर वैल्यु क्रिएशन की उम्मीद है। इसमें इन हाउस उत्पादन भी शामिल है। साथ ही नए उत्पादों के बाजार में उतारने सहित ऑपरेशल कार्यक्षमता में बढ़ोतरी होने की भी उम्मीद है। (शेयर मंथन 04 मई 2022)

Add comment

 

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : डाउनलोड करें

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

शेयर मंथन पर तलाश करें।

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"