अदानी न्यू इंडस्ट्रीज लिमिटेड (ANIL) में 25% हिस्सा खरीदेगी टोटल एनर्जी

अदानी एंटरप्राइजेज ने फ्रांस की कंपनी टोटल एनर्जी के साथ करार किया है। दोनों कंपनियों की विश्व की सबसे बड़ी ग्रीन हाइड्रोजन इकोसिस्टम बनाने की योजना है।

 अदानी एंटरप्राइजेज ने फ्रांस की कंपनी टोटल एनर्जी के साथ करार किया है। दोनों कंपनियों की विश्व की सबसे बड़ी ग्रीन हाइड्रोजन इकोसिस्टम बनाने की योजना है। अदानी ग्रीन हाइड्रोजन पर 5000 करोड़ डॉलर का निवेश करेगी। किसी कंपनी की ओर से ग्रीन हाइड्रोजन में अब तक का यह सबसे बड़े निवेश का ऐलान है। इस करार के तहत टोटल एनर्जी 25% हिस्सा अदानी न्यू इंडस्ट्रीज लिमिटेड (ANIL) में खरीदेगी। टोटल यह हिस्सा अदानी एंटरप्राइज (AEL) से खरीदेगी। इस नए करार का फोकस ग्रीन हाइड्रोजन पर होगा। इस करार के जरिए न केवल भारत में बल्कि वैश्विक स्तर पर एनर्जी लैंडस्केप में बदलाव आएगा। अदानी और टोटल एनर्जी दोनों कंपनियां क्लीन एनर्जी को अपनाने में शुरू से ही आगे रही हैं। दोनों कंपनियों के इस संयुक्त एनर्जी प्लैटफॉर्म से पब्लिक ईएसजी (ESG) के वादे को और बल मिलेगा। अदानी न्यू एनर्जी का अगले 10 साल में ग्रीन हाइड्रोजन में 5000 करोड़ डॉलर निवेश करने की योजना है। यह निवेश संबंधित इकोसिस्टम में भी किया जाएगा। शुरुआती चरण में अदानी न्यू एनर्जी 2030 से पहले सालाना 10 लाख टन सालाना ग्रीन हाइड्रोजन उत्पादन क्षमता विकसित करेगी। अदानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी ने कहा कि अदानी-टोटल एनर्जी के बीच यह करार कारोबार और महत्वाकांक्षा के लिहाज से काफी अहम है। विश्व की सबसे बड़ी ग्रीन हाइड्रोजन कंपनी बनने की इस यात्रा में यह करार कई तरह के नए आयाम तय करेगा जिसमें रिसर्च एंड डेवलपमेंट के साथ बाजार में पहुंच और ग्राहकों की जरुरत को समझना शामिल है। इससे बाजार की मांग को समझने में मदद मिलेगी। दोनों कंपनियों को भरोसा है कि वे वैश्विक स्तर पर सबसे सस्ता इलेक्ट्रॉन का उत्पादन कर सकने में सक्षम हैं। इसके साथ ही वे सबसे सस्ता ग्रीन हाइड्रोजन का भी उत्पादन कर पाएंगे। टोटल एनर्जी के चेयरमैन और मुख्य कार्यकारी अधिकारी Mr. Patrick Pouyanné के मुताबिक इस साझेदारी से भविष्य में कई रास्ते खुलेंगे। टोटल एनर्जी के अदानी न्यू इंडस्ट्रीज लिमिटेड (ANIL) में एंट्री एक नया मुकाम है जिसके जरिए रिन्युएबल और लो कार्बन हाइड्रोजन रणनीति को लागू करने में मदद मिलेगी। कंपनी 2030 तक यूरोपीय रिफाइनरीज में हाइड्रोजन के डिकार्बोनाइज का काम करेंगे बल्कि मांग पूरा करने के लिए ग्रीन हाइड्रोजन का बड़े स्तर पर उत्पादन भी कर पाएंगे। अदानी ग्रुप के साथ इस साझेदारी से भारत में हमारे करार को मजबूती मिली है। भारत में कम कीमत पर रिन्युएबल एनर्जी उत्पादन की काफी संभावनाएं हैं। 10 लाख टन ग्रीन हाइड्रोजन के सालाना उत्पादन क्षमता भविष्य के लिए काफी कारगर साबित होगी। इसके साथ ही टोटल एनर्जी की बायोफ्यू, बायोगैस, हाइड्रोजन और ई-फ्यूल में हिस्सेदारी 2050 तक बढ़कर 25 फीसदी तक होने की उम्मीद है। दोनों कंपनियां अपने क्षेत्र की विशेषज्ञता का इस्तेमाल करेंगी। अदानी ग्रुप के पास भारतीय बाजार के बारे में गहरा ज्ञान, तेजी से प्रोजेक्ट को लागू करने की क्षमता, ऑपरेशन एक्सीलेंस और पूंजी प्रबंधन जैसे क्षेत्र की महारता हासिल है। वहीं टोटल एनर्जी के पास वैश्विक के अलावा यूरोपीय बाजार की अच्छी समझ है। साथ हीं क्रेडिट में बढ़ोतरी,वित्तीय लागत को कम करने और आधारभूत तकनीक के क्षेत्र में महारत हासिल है। इन दोनों कंपनियों के मजबूत पक्ष मिलकर अदानी न्यू इंडस्ट्रीज लिमिटेड को विश्व के सबसे बड़े ग्रीन हाइड्रोजन उत्पादन करने वाली कंपनी बनाने में मदद करेंगी। इससे ग्राहकों को सबसे सस्ती दर पर हाइड्रोजन मुहैया होगा। साथ ही वैश्विक स्तर पर एनर्जी ट्रांजिशन में तेजी आएगी। अदानी न्यू इंडस्ट्रीज लिमिटेड का सबसे बड़ा पूरी तरह से एकीकृत ग्रीन हाइड्रोजन कंपनी बनने का लक्ष्य है। कंपनी संपूर्ण वैल्यु चेन जैसे रिन्युएबल एनर्जी का उत्पादन,ग्रीन हाइड्रोजन उपकरण ( सोलर पैनल, विंड टर्बाइन, इलेक्ट्रोलाइजर) से लेकर बड़े स्तर पर ग्रीन हाइड्रोजन का उत्पादन शामिल है।

 

(शेयर मंथन 14 जून 2022)

Add comment

 

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : डाउनलोड करें

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

शेयर मंथन पर तलाश करें।

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"