Big bold steps to restart Economic growth missing

Mohit Malhotra, CEO, Dabur India
Finance Minister Nirmala Sitaraman’s Union Budget 2020-21 can be termed as an Incremental Budget that continues the government's focus on doubling farmer income by 2022, offers significant sops at the lower end of the spectrum and enhances the purchasing power of the consuming class in India.

Crucial to stick to fiscal prudence for FY21

Dhiraj Relli, MD & CEO, HDFC Securities
The FM has done well in abiding by the fiscal prudence principles for FY21 and the targets set by her look achievable. But it will be crucial for her to stick to it for FY21, else the international rating agencies may have adverse views.

A good budget, MF will be a preferred option

Vijai Mantri, Co-Founder, JRL Money
In my opinion this is a good budget for following reasons:
- Real Estate and autos, though employ large number of people, are sunset industries. How can demand be revived when unsold inventories in top 7 cities is more than Rs. 9 lac crores?

Credible Budget to build Incredible India: ICICI Securities

"Union Budget 2020-21 has carried forward the government’s vision of developing India as a key manufacturing hub and was pragmatic in addressing the economic and social objective of promoting investments, generating jobs and improving ease of living for Indian citizens", says the Union Budget Review 2020 report released by broking firm ICICI Securities.

बजट में घोषित नयी आय कर दरें आपके लिए कितनी फायदेमंद? समझें यह हिसाब-किताब

बजट 2020 में घोषित नयी आयकर दरों से वास्तव में करदाताओं को बड़ी राहत नहीं मिली है। अगर किसी व्यक्ति की सालाना आय 20 लाख रुपये भी हो, और वह आय कर में छूट के नियमों, जैसे 80सी और हाउसिंग लोन का पूरा फायदा उठाता रहा हो, तो उसके लिए नयी दरें फायदेमंद नहीं होंगी।

बजट 2020 में क्या बाजारों को लेन-देन की लागत में मिलेगी राहत?

शेयर बाजार समेत तमाम वित्तीय बाजारों में लेन-देन की लागत काफी ऊँची हो जाने की शिकायत अरसे से की जा रही है, लेकिन इस साल बजट में सरकार इस बारे में बाजारों को कुछ राहत दे सकती है।

सरकार के अगले पाँच वर्षों के लक्ष्य का खाका है यह बजट- संजीव बजाज

आम बजट 2019-20 पर विचार व्यक्त करते हुए सीआईआई पश्चिमी क्षेत्र के अध्यक्ष और बजाज फिनसर्व के प्रबंध निदेशक संजीव बजाज ने कहा है कि नयी सरकार का पहला बजट अगले पाँच वर्षों के लिए सरकार के संपूर्ण विचार का खाका खींचता नजर आता है, जिसमें बुनियादी ढाँचे, निवेश, सरकार के विनिवेश कार्यक्रम से लेकर प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष करों में बदलाव तक शामिल हैं।

बजट 2019 : मुख्य बातें (Budget Live Updates)

वित्त मंत्री - 5 लाख रुपये तक की आय पर कोई कर नहीं। 45 लाख रुपये का घर खरीदने पर 1.5 लाख रुपये की अतिरिक्त छूट। आवास ऋण पर 3.5 लाख करोड़ रुपये की छूट। ब्याज पर छूट की सीमा 2 लाख रुपये से बढ़ा कर 3.5 लाख रुपये। घर बेच कर स्टार्ट-अप में निवेश पर टैक्स में छूट।

अंतरिम बजट 2019 : मुख्य बातें (Budget Live Updates)

कर प्रस्ताव

होम लोन के 2 लाख रुपये आदि छूटों को मिलाने पर इससे ऊँची आय वालों को भी कर नहीं चुकाना होगा। 3 करोड़ मध्यमवर्गीय परिवारों को कर छूट की सीमा बढ़ने का लाभ मिलेगा - पीयूष गोयल

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : जून 2020 अंक डाउनलोड करें

शेयर मंथन पर तलाश करें।

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"