तटीय ओडिशा, पश्चिम बंगाल और दक्षिणी पूर्वोत्तर में भारी वर्षा संभव - स्काईमेट (Skymet)

स्काईमेट (Skymet) के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार चक्रवात 'बुलबुल' के चलते उत्तरी तटीय ओडिशा, गंगीय पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर राज्यों के दक्षिणी भागों में मूसलाधार वर्षा हो सकती है।

उत्तरी तटीय ओडिशा, दक्षिण तटीय पश्चिम बंगाल में कुछ स्थानों पर 100-120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएँ भी चल सकती हैं। गंगीय पश्चिम बंगाल और उत्तरी ओडिशा के शेष हिस्सों में मध्यम से भारी बारिश होने और 60 किमी प्रति घंटे की गति के तेज हवाएँ चलने के आसार हैं। झारखंड के कई हिस्सों और बिहार के दक्षिणी भागों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।
तूफान बुलबुल के पूर्वोत्तर की ओर बढ़ने के कारण मेघालय, त्रिपुरा, दक्षिण असम, मिजोरम और मणिपुर में मध्यम बारिश के साथ 40-50 किमी प्रति घंटे की गति हवाएँ चलने की संभावना है। शेष पूर्वोत्तर राज्यों में भी कुछ स्थानों पर हल्की बारिश होगी। तमिलनाडु, दक्षिण कर्नाटक और केरल के कई स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। जबकि रायलसीमा और आस-पास के क्षेत्रों में छिटपुट हल्की बारिश देखने को मिलेगी।
वहीं महाराष्ट्र और आस-पास के कुछ स्थानों पर हल्की बारिश संभव है। जम्मू-कश्मीर में अब बारिश की गतिविधियों में कमी देखी जा सकती है। हालांकि कुछ स्थानों पर हल्की बारिश या बर्फबारी अभी भी संभव है। उत्तर-पश्चिम भारत और मध्य भारत में मौसम शुष्क रहेगा। इन भागों में हवाओं की गति बढ़ सकती है।

पिछले 24 घंटों के दौरान देश भर में हुई मौसमी हलचल
चक्रवाती तूफान बुलबुल के प्रभाव से पिछले 24 घंटों के दौरान ओडिशा और गंगीय पश्चिम बंगाल के तटीय भागों में मौसम सक्रिय रहा। इस दौरान पारादीप, चंदबली और बालासोर में मूसलाधार वर्षा रिकॉर्ड की गयी। पारादीप में 160 मिमी, चांदबाली में 150 मिमी और बालासोर में 40 मिमी वर्षा हुई। गंगीय पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा और मिजोरम में भी मध्यम बारिश देखी गयी। पश्चिमी मध्य प्रदेश, राजस्थान के दक्षिण-पूर्वी भागों, उत्तरी कोंकण और हिमाचल प्रदेश में भी कुछ स्थानों पर मध्यम से भारी वर्षा रिकॉर्ड की गयी। जम्मू-कश्मीर, पूर्वी मध्य प्रदेश, केरल, तटीय कर्नाटक, असम, मेघालय में कुछ स्थानों पर हल्की बारिश हुई।

देश भर में बने मौसमी सिस्टम
अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान बुलबुल शनिवार की सुबह कोलकाता से 280 किलोमीटर दूर था। पिछले 6 घंटों के दौरान तूफान बुलबुल 13 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से आगे बढ़ा है। जम्मू-कश्मीर के पास एक नया पश्चिमी विक्षोभ आ रहा है। यह सिस्टम इस समय उत्तरी पाकिस्तान से आगे आ चुका है। एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उत्तर-पूर्वी अरब सागर और इससे सटे दक्षिण-पूर्वी गुजरात के तटों पर बना हुआ है। (शेयर मंथन, 09 नवंबर 2019)

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : अप्रैल 2019 अंक डाउनलोड करें

शेयर मंथन पर तलाश करें।

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"