एसपीवी के जरिए भारत में रिन्युएबल एनर्जी का कारोबार बढ़ाएगी सेरेंटिका

सेरेंटिका रिन्युएबल भारत में रिन्युएबल एनर्जी प्लैटफॉर्म बाजार में उतारेगी। सेरेंटिका रिन्युएबल पर मालिकाना हक ट्विनस्टार ओवरसीज लिमिटेड का है। सेरेंटिका रिन्युएबल का स्टरलाइट पावर ट्रांसमिशन और स्टरलाइट टेक्नोलॉजी में कंट्रोलिंग हिस्सेदारी है।

 इस एनर्जी प्लैटफॉर्म के जरिए देश के बड़े ऊर्जा खपत करने वाले ग्राहकों को चौबीस घंटे बिजली आपूर्ति करने की योजना है। इस कंपनी का मकसद ग्राहकों को एंड टू एंड ग्रीन एनर्जी सॉल्यूशंस मुहैया कराना है। इसके अलावा उचित ट्रांसमिशन नेटवर्क से कनेक्टिविटी भी शामिल है। इसके लिए कंपनी ग्रुप कंपनी स्टरलाइट पावर ट्रांसमिशन की भी मदद लेगी। वेंदाता ग्रुप की कंपनी हिंदुस्तान जिंक ने पिछले हफ्ते ऐलान किया था कि कंपनी ने सेरेनटिका रिन्युएबल्स के साथ पावर डिलिवरी को लेकर समझौता किया है। लंबी अवधि के लिए रिन्युएबल एनर्जी आपूर्ति के लिए करार किया है। हिंदुस्तान जिंक ने सेरेंटिका SPV में 26% फीसदी हिस्सा खरीदा है। इसके लिए कंपनी ने 350 करोड़ रुपये का निवेश किया है। शुरुआत में कंपनी को 200 मेगा वाट ग्रीन पावर मिलेगी। सेरेंटिका की 1500 मेगा वाट के सोलर और विंड पावर प्रोजेक्ट लगाने की योजना है। कंपनी इन इकाइयों को राजस्थान, कर्नाटक और महाराष्ट्र में कई अलग-अलग जगहों पर लगाएगी। इसके लिए कंपनी ने पहले ही कनेक्टिविटी के लिए मंजूरी ले ली है। इसमें से 600 मेगा वाट की एनर्जी का इस्तेमाल वेदांता ग्रुप के अलग-अलग कंपनियों के लिए की जाएगी। निवेश की रकम का अभी आकलन किया जा रहा है। कंपनी की 24 महीने में इस क्षमता को पूरी तरह से विकसित करने की योजना है। इसके अलावा सेरेंटिका चुनिंदा सरकारी टेंडर में भी शामिल होगी जो कंपनी के प्रोजेक्ट से तालमेल खाता हो। कंपनी व्यावसायिक और औद्योगिक ग्राहकों को ग्रीन एनर्जी समाधान मुहैया कराने पर फोकस कर रही है। इसके लिए कंपनी रिन्युएबल जेनरेशन स्पेशल परपस व्हीकल यानी एसपीवी (SPV) का गठन करेगी। मध्यम अवधि में सेरेंटिका का लक्ष्य 5000 मेगा वाट कार्बन मुक्त उत्पादन क्षमता विकसित करने का है जिसके तहत अलग-अलग स्टोरेज तकनीक का भी इस्तेमाल किया जाएगा।

(शेयर मंथन 13 सितंबर, 2022)

Add comment

 

कंपनियों की सुर्खियाँ

निवेश मंथन : डाउनलोड करें

निवेश मंथन : ग्राहक बनें

शेयर मंथन पर तलाश करें।

Subscribe to Share Manthan

It's so easy to subscribe our daily FREE Hindi e-Magazine on stock market "Share Manthan"